Home E-paper बिजली उपभोक्ताओं के लिए बड़ी खबर : अब मोबाइल की तरह विद्युत मीटर भी रिचार्ज कर बिजली का उपयोग कर सकेंगे जिले के उपभोक्ता ; विद्युत विभाग सर्वे के बाद अगले दिन से लगाएगा प्रीपेड विद्युत मीटर

बिजली उपभोक्ताओं के लिए बड़ी खबर : अब मोबाइल की तरह विद्युत मीटर भी रिचार्ज कर बिजली का उपयोग कर सकेंगे जिले के उपभोक्ता ; विद्युत विभाग सर्वे के बाद अगले दिन से लगाएगा प्रीपेड विद्युत मीटर

by Sunil Kumar
0 comment

Chhapra Desk- अब विद्युत उपभोक्ता प्रीपेड विद्युत मीटर को रिचार्ज करने के बाद ही बिजली का उपयोग कर सकेंगे. क्योंकि, विद्युत विभाग द्वारा जिले में प्रीपेड विद्युत मीटर लगाये जाने का कार्य प्रारंभ कर दिया गया है. इसके लिए विभागीय कर्मचारियों के द्वारा शहर में सर्वे भी प्रारंभ कर दिया गया है. नये प्रीपेड विद्युत मीटर में मोबाइल की तरह ही एक चिप कार्ड होगा, जिसे रिचार्ज करने के बाद ही उपभोक्ताओं के द्वारा बिजली का उपयोग किया जा सकेगा. रिचार्ज के अनुसार बैलेंस समाप्त होते ही बिजली स्वत: बंद हो जाएगी. इस समस्या से विद्युत विभाग को जहां एडवांस में विद्युत शुल्क की राशि प्राप्त हो सकेगी, वही बिजली बिल के बकाया होने एवं बकाया बिल के लिए तकादा करने की समस्या से विभाग को निजात मिल जाएगा और उस उपभोक्ता का कनेक्शन बंद हो जाएगा. जिसके बाद उसके द्वारा पुनः रिचार्ज किए जाने के बाद ही बिजली का उपयोग किया जा सकेगा. लेकिन इससे सबसे अधिक सुविधा उपभोक्ताओं को होगी जिन्हें बिजली बिल जमा करने के लिए लाइन में लगने और बिजली बिल में गड़बड़ी होने पर शिकायतों के लिए विभाग का चक्कर लगाना पड़ता था.


बिल संबंधित शिकायतों से उपभोक्ता और विभाग दोनों को मिलेगा निजात

बिजली विभाग के द्वारा भुगतान को दिए गए बिजली बिल में गड़बड़ी होने की शिकायत हजारों उपभोक्ताओं की रहती है. ऐसी स्थिति में उपभोक्ता जेई से लेकर विद्युत विभाग के एसडीओ एवं अधीक्षण अभियंता तक शिकायतों का निपटारा के लिए दौड़ते रहते हैं. वहीं विद्युत विभाग को भी इसके लिए लगातार अलग से प्रयास करना पड़ता है. लेकिन प्रीपेड मीटर लगाए जाने के बाद जहां उपभोक्ताओं को बिल सुधरवाने की समस्या से निजात मिलेगा, वहीं विद्युत विभाग को भी बिल सुधारने की झंझट ओं से आजादी मिलेगी. क्योंकि, उपभोक्ता प्रीपेड विद्युत मीटर रिचार्ज करने के बाद प्रतिदिन अपनी खपत और बैलेंस राशि का स्टेटस विद्युत मीटर से प्राप्त कर सकेंगे. जिसमें उनके द्वारा खपत बिजली और बैलेंस राशि दिखाई जाएगी. ऐसी स्थिति में बिल सुधारने और सुधरवाने के झंझट से उपभोक्ता एवं विभाग दोनो को भी निजात मिल जाएगा.

बिजली चोरी पर लगेगा अंकुश

विभाग द्वारा प्रीपेड विद्युत मीटर लगाये जाने के बाद निस्संदेह बिजली चोरी पर अंकुश लगेगा. क्योंकि, प्रीपेड मीटर को बाईपास नहीं किया जा सकेगा. ऐसी स्थिति में उपभोक्ता जिस अनुपात में प्रीपेड मीटर को रिचार्ज करेगा, उसके अनुरूप ही बिजली की खपत भी कर सकेगा. प्रीपेड मीटर से छेड़छाड़ किए जाने पर यह इसे इंगित भी करेगा.

प्रीपेड मीटर लगाना सब के लिए अनिवार्य, नहीं तो होगी कार्रवाई

इस मामले में विद्युत अधीक्षण अभियंता विवेकानंद ने बताया कि विभाग के द्वारा सभी विद्युत उपभोक्ताओं से अपील की जाती है कि वह लोग विभाग को प्रीपेड मीटर बदलने में सहयोग करें. वैसे विद्युत उपभोक्ता जो प्रीपेड मीटर लगाने में आनाकानी करेंगे या इस मीटर को लगाने से इंकार करेंगे उनपर विभाग सख्ती बरतेगा. बिजली बिल बकाया होने की स्थिति में प्रीपेड मीटर नहीं लगवाने वाले उपभोक्ताओं का कनेक्शन भी काटा जाएगा.

क्या कहते हैं विद्युत एसडीओ

विद्युत एसडीओ रजत कुमार ने बताया कि प्रीपेड विद्युत मीटर को लगाए जाने के लिए सर्वे प्रारंभ कर दिया गया है. मंगलवार को विभागीय टीम के द्वारा हथुआ मार्केट के विद्युत उपभोक्ताओं का सर्वे किया गया है. जिसके बाद अगले दिन से वहां प्रीपेड विद्युत मीटर लगाए जाने का कार्य प्रारंभ कर दिया जाएगा. उन्होंने बताया कि राज्य विद्युत बोर्ड के द्वारा प्रीपेड मीटर उपलब्ध करा दिया गया है. अगले वर्ष जुलाई महीने तक जिले के सभी उपभोक्ताओं का विद्युत मीटर प्रीपेड मीटर से बदल दिया जाएगा.

Sunil Kumar
Author: Sunil Kumar

You may also like

Leave a Comment

Translate »