परीक्षा से पूर्व मैट्रिक व इंटर के परीक्षार्थियों को दी जाएगी कोविड वैक्सीन ; जिला एवं प्रखंड स्तर पर टास्क फोर्स का होगा गठन

Chhapra Desk-  वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के बीच कोविड टीकाकरण कार्यक्रम निरंतर जारी है. महामारी से सुरक्षा प्रदान करने के लिए जिले में 15 से 18 वर्ष तक के किशोर-किशोरियों का टीकाकरण किया जा रहा है. टीकाकरण के लक्ष्य को शत-प्रतिशत हासिल करने के लिये चरणबद्ध तरीके से अभियान चलाया जा रहा है. अब मैट्रिक और इंटरमीडियट के परीक्षार्थियों को परीक्षा के पूर्व टीकाकरण करने का लक्ष्य स्वास्थ्य विभाग के द्वारा रखा गया है. इस संबंध में स्वास्थ्य अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने पत्र जारी कर जिलाधिकारी और सिविल सर्जन को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया है. जारी पत्र में कहा गया है कि आगामी माह में मैट्रिक से इण्टरमीडियट तक की परीक्षा (सभी बोर्ड यथा बिहार बोर्ड / सीबीएसई/आईसीएसई) का संचालन किया जाना है. इस परीक्षा में सामान्यत 15 से 18 वर्ष आयुवर्ग के परीक्षार्थी सम्मिलित होते हैं. परीक्षा में कोविड टीकाकरण के लिए योग्य लाभार्थी काफी संख्या में सम्मिलित होते एवं कोविड 19 के संक्रमण की रोकथाम के लिए आवश्यक है कि सभी योग्य लाभार्थियों का टीकाकरण परीक्षा के पूर्व कर लिया जाए.

जिला एवं प्रखंड स्तर पर टास्क फोर्स का होगा गठन

कोविड टीकारण के सफल क्रियान्वयन को लेकर जिला एवं प्रखंड स्तर पर टास्क फोर्स का गठन किया जायेगा. जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जिलास्तरीय टास्क फोर्स बनेगी. जिसमें सिविल सर्जन, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी, जिला कार्यक्रम प्रबंधक और सहयोगी संस्थाओं के जनप्रतिनिधि शामिल होंगे. वहीं प्रखंड स्तर पर प्रखंड विकास पदाधिकारी की अध्यक्षता में यह टास्क फोर्स बनेगी. जिसमें प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी, प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक और सहयोगी संस्थाओं के प्रतिनिधि को शामिल किया जायेगा.

प्रतिदिन होगी टीकाकरण की प्रगति की समीक्षा

पत्र के माध्यम से निर्देश दिया गया है कि जिला एंव प्रखंड स्तर पर गठित टास्क फोर्स के द्वारा प्रतिदिन टीकाकरण कार्य की प्रगति की समीक्षा के लिए बैठक आयोजित की जायेगी. इस बैठक में टीकाकरण के शत-प्रतिशत लक्ष्य को हासिल करने तथा फील्ड में आ रही चुनौतियों को दूर करने की रणनीति पर चर्चा होगी.

शत-प्रतिशत टीकाकरण वाले स्कूल को किया जायेगा सम्मानित

जिले में विद्यालय स्तर पर 15 से 18 वर्ष तक के किशोर-किशोरियों का टीकाकरण किया जा रहा है. किशोर-किशोरी उत्साहित होकर संक्रमण के खिलाफ सुरक्षा के लिए वैक्सीन ले रहे हैं. पत्र के माध्यम से यह निर्देश दिया गया है कि वैसे विद्यालय जहां के शत-प्रतिशत छात्र-छात्राओं का टीकाकरण हो चुका है उस विद्यालय को 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के अवसर पर सम्मानित किया जायेगा.

E-paper Health